< झारखंड में कोरोना का दूसरा चरण - Healthcare and yoga

Healthcare and yoga

health matters!

झारखंड में कोरोना का दूसरा चरण
Read in hindi

झारखंड में कोरोना का दूसरा चरण

झारखंड में कोरोना का दूसरा चरण

बढ़ते संक्रमण को देखते हुए आपदा प्रबंधन की बैठक में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कुछ फैसले लिए जो निम्नलिखित है
कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के नजर रखते हुए सरकार ने नए आदेश जारी किए हैं जो 8 से 30 अप्रैल तक के लिए लागू किए गए हैं

झारखंड में कोरोना का दूसरा चरण

  1. ऑफलाइन कक्षाएं स्थगित रहेंगी
  2. सभी कक्षाएं ऑनलाइन ही चलेंगी
  3. सत्र 2020 से 21 के 12वीं एवं दसवीं के विद्यार्थी की ऑफलाइन पढ़ाई जारी रहेगी इसमें परिजनों की अनुमति होने पर ही विद्यार्थी शामिल होंगे
  4. पूर्व से जारी हुआ घोषित परीक्षाएं जारी रहेंगी
  5. किसी भी सार्वजनिक जगह पर एक जगह 5 से अधिक लोग जमा नहीं होंगे
  6. दुकान रेस्टोरेंट्स क्लब रात 8:00 बजे ही खुले रहेंगे
  7. होम डिलीवरी की सुविधा दी जा सकेगी
  8. बार रेस्टोरेंट में क्षमता से 50% ग्राहक बैठाए जा सकेंगे
  9. बैंक्विट हॉल मैं विवाह को छोड़कर अन्य कोई भी आयोजन नहीं होगा
  10. शादी में अधिकतम 200 लोग ही शामिल हो सकेंगे
  11. जुलूस और धरना प्रदर्शन पर रोक रोक लगा दी गई है
  12. धार्मिक स्थलों पर क्षमता से 50% लोगों के जितेन की अनुमति समाजिक दूरी और मास्क होना अनिवार्य है
  13. सरकारी कार्यालय दुकानों व धार्मिक स्थलों सहित सभी जगह मास परिवार किया गया है
  14. सार्वजनिक स्थानों पर 5 से अधिक लोगों के जमा होने पर रोक लगा दी गई है
  15. खेलकूद के आयोजन बंद कर दिए गए हैं स्विमिंग पूल वर्जीम भी बंद है

online registration for covid 19 vaccination

details of 

झारखंड में कोरोना का दूसरा चरण

provided by 

healthcareandyoga.com

मुख्यमंत्री ने क्या कहा      झारखंड में कोरोना का दूसरा चरण 

यह निर्णय मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में मंगलवार को राज्य आपदा प्रबंधन की बैठक में लिया गया है साथ ही और भी निर्देश जारी किए गए जैसे
रोज 35000 टेस्ट करने का निर्देश जारी किया गयाझारखंड में कोरोना का दूसरा चरण
मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी ने यह कहा है कि रोज 35000 टेस्ट होना सुनिश्चित होना चाहिए हर जिले में हो रही टेस्टिंग पर प्रतिदिन नजर रखें साथ ही वैक्सीनेशन की रफ्तार को बढ़ाएं बस संचालकों को थर्मल स्कैनर रखने का आदेश जारी किया है

आपदा प्रबंधन की बैठक में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि जिस रफ्तार से कोरोना संक्रमण का दायरा राज में बढ़ रहा है उसको देखते हुए सरकार कुछ पाबंदियां लगा रही है झारखंड के लोगों के स्वास्थ्य सुरक्षा सरकार की प्राथमिकताओं में है राज्य भर के कार्यालयों में मांस लगाना अनिवार्य होगा मार्क्स के बिना प्रवेश वर्जित करना होगा मुख्यमंत्री जी ने क्या कहा है कि सभी निजी अस्पतालों का सर्वे करें ताकि यह पता चल सके कि वहां कैसे-कैसे लोग भर्ती हैं संक्रमण की गंभीर स्थिति नहीं होने पर ऐसे लोगों को होम आइसोलेशन में डालें इससे अनावश्यक भीड़ अस्पतालों में नहीं होगी अस्पताल के बेड ऐसे लोगों के लिए रखे जिनकी किसी संक्रमण से गंभीर हैझारखंड में कोरोना का दूसरा चरण

अंत में यही कहना चाहूंगा कि

यह जो कोरोना महामारी है जो झारखंड में कोरोना का दूसरा चरण फिर से पांव पसार रहा है अगर यह अब फैलता है तो हमारी पूरी अर्थव्यवस्था शिक्षण तथा जितने भी विद्यार्थी हैं उन सभी का पूरा 2 साल बर्बाद हो जाएगा तथा भारत की जो अर्थव्यवस्था है फिर से नीचे गिर जाएगी तो आप सबों से निवेदन है कि आप सब ऊपर दिए गए सभी आदेशों का पालन करें तथा औरों को पालन करने को प्रेरित करें ऐसा अगर आप करते हैं तो सभी छात्राओं का 2 साल बर्बाद होने से बच जाएगा तथा भारत की अर्थव्यवस्था की स्थिति गंभीर नहीं होगी

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *